चंद्रघंटा माता की आरती – Chandraghanta Mata Ki Aarti

Chandraghanta Mata Ki Aarti | चंद्रघंटा माता की आरती – नवरात्रि के तीसरे दिन माँ चंद्रघंटा की पूजा आराधना की जाती है. इस दिन चंद्रघंटा माता की आरती के माध्यम से माँ चंद्रघंटा की स्तुति करना अत्यंत ही शुभ फलदायी होता है.

नमस्कार स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. माँ चंद्रघंटा की स्तुति के लिए हमने माँ चंद्रघंटा मंत्र और स्तोत्र का प्रकाशन इस साईट पर किया हुआ है. इसे आप निचे दिए गए लिंक पर क्लीक करके देख सकतें हैं.

सम्पूर्ण भक्तिपूर्वक माँ दुर्गा की आराधना और स्तुति करें. नौ दुर्गा के सभी रूपों का भक्तिपूर्वक पूजन करें. माँ दुर्गा के सभी नौ रूपों की स्तुति के लिए आरती, मंत्र और स्तोत्र सोनाटुकु साईट पर प्रकाशित है. आप इन्हें अवस्य देखें.

चंद्रघंटा माता की आरती

|| माँ चंद्रघंटा की आरती ||

जय माँ चन्द्रघंटा सुख धाम।
पूर्ण कीजो मेरे काम॥

चन्द्र समान तू शीतल दाती।
चन्द्र तेज किरणों में समाती॥

क्रोध को शांत बनाने वाली।
मीठे बोल सिखाने वाली॥

मन की मालक मन भाती हो।
चंद्रघंटा तुम वर दाती हो॥

सुन्दर भाव को लाने वाली।
हर संकट में बचाने वाली॥

हर बुधवार को तुझे ध्याये।
श्रद्दा सहित तो विनय सुनाए॥

मूर्ति चन्द्र आकार बनाए।
शीश झुका कहे मन की बाता॥

पूर्ण आस करो जगत दाता।
कांचीपुर स्थान तुम्हारा॥

करनाटिका में मान तुम्हारा।
नाम तेरा रटू महारानी॥

भक्त की रक्षा करो भवानी।

Chandraghanta Mata Ki Aarti

|| Maa Chandraghanta Aarti ||

Jai Maa Chandraghanta Sukh Dham.
Purn Kijo Mere Kaam.

Chandra Samaj Tu Sheetal Daati.
Chandra Tej Kirano Me Samati.

Krodh Ko Shaant Banane Wali.
Mithe Bol Sikhane Wali.

Man Ki Malak Man Bhati Ho.
Chandraghanta Tum Var Dati Ho.

Sundar Bhav Ko Lane Wali.
Har Sankat Me Bachane Wali.

Har Budhwar Ko Tuhe Dhyaye.
Shraddha Sahi To Vinay Sunaye.

Murti Chandra Aakaar Banaye.
Sheesh Jhuka Kahe Man Ki Bata.

Purn Aas Karo Jagat Data.
Kanchipur Sthan Tumhara.

Karnatika Me Maan Tumhara.
Naam Tera Ratu Maharani.

Bhakt Ki Raksha Karo Bhavani.

चंद्रघंटा माता की आरती का महत्व (Importance of Chandraghanta Mata Ki Aarti)

  • नवरात्रि के तीसरे दिन माँ चंद्रघंटा की पूजा की जाती है.
  • इस दिन माँ चंद्रघंटा की स्तुति के लिए दिए गये आरती का गायन करना अत्यंत ही शुभ होता है.
  • चंद्रघंटा माता भी माँ दुर्गा का ही रूप है.
  • चंद्रघंटा माता की आरती के द्वारा हम सब माँ चंद्रघंटा की स्तुति करतें हैं और उनकी कृपा प्राप्त करतें हैं.
  • माँ चंद्रघंटा अपने भक्तों की सदा रक्षा करतीं हैं.
  • माँ चंद्रघंटा की कृपा से जीवन में आने वाली समस्त बाधाएं नष्ट हो जाती हैं.
चंद्रघंटा माता की पूजा नवरात्रि के किस दिन की जाती है?

चंद्रघंटा माता की पूजा नवरात्रि के तीसरे दिन की जाती है.

कालरात्रि माता की आरती – Kaalratri Mata Ki Aarti

स्कंदमाता की आरती Skandmata Ki Aarti

कुष्मांडा माता की आरती | Kushmanda Mata Ki Aarti

ब्रह्मचारिणी माता की आरती – Brahmacharini Mata Ki Aarti

Shailputri Mata Ki Aarti – शैलपुत्री माता की आरती

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.