कुष्मांडा माता की आरती | Kushmanda Mata Ki Aarti

Kushmanda Mata Ki Aarti | कुष्मांडा माता की आरती – नवरात्रि के चौथे दिन कुष्मांडा माता की स्तुति और पूजा की जाती है. इस दिन के लिए हमने इस पोस्ट में कुष्मांडा माता की आरती का प्रकाशन किया है. आप इस आरती के माध्यम से कुष्मांडा माता की स्तुति कर सकतें हैं.

कुष्मांडा माता की आरती

कूष्मांडा जय जग सुखदानी |
मुझ पर दया करो महारानी ||

पिगंला ज्वालामुखी निराली |
शाकंबरी माँ भोली भाली ||

लाखों नाम निराले तेरे |
भक्त कई मतवाले तेरे ||

भीमा पर्वत पर है डेरा |
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा ||

सबकी सुनती हो जगदंबे |
सुख पहुँचाती हो माँ अंबे ||

तेरे दर्शन का मैं प्यासा |
पूर्ण कर दो मेरी आशा ||

माँ के मन में ममता भारी |
क्यों ना सुनेगी अरज हमारी ||

तेरे दर पर किया है डेरा |
दूर करो माँ संकट मेरा ||

मेरे कारज पूरे कर दो |
मेरे तुम भंडारे भर दो ||

तेरा दास तुझे ही ध्याए |
भक्त तेरे दर शीश झुकाए ||

Kushmanda Mata Ki Aarti

Kushmanda Jai Jag Sukhdani.
Mujh Par Daya Karo Maharani.

Pingala Jwalamukhi Nirali.
Shakambari Maa Bholi Bhali.

Lakho Naam Nirale Tere.
Bhakt Kai Matwale Tere.

Bhima Parwat Par Hai Dera.
Swikaro Pranam Ye Mera.

Sabki Sunti Ho Jagdambe.
Sukh Pahunchati Ho Maa Ambe.

Tere Darshan Ka Main Pyasa.
Purn Kar Do Meri Aasha.

Maa Ke Man Me Mamta Bhari.
Kyon Na Sunegi Araj Hamari.

Tere Dar Par Kiya Hai Dera.
Dur Karo Maa Sankat Mera.

Mere Karaj Pure Kar Do.
Mere Tum Bhandare Bhar Do.

Tera Daas Tujhe Hi Dhyaaye.
Bhakt Tere Dar Shish Jhukaaye.

कुष्मांडा माता की आरती का महत्व (Importance of Kushmanda Mata Ki Aarti)

  • हम सब कुष्मांडा माता की आरती के माध्यम से माँ कुष्मांडा की स्तुति करतें हैं.
  • नवरात्रि के चौथे दिन माँ कुष्मांडा की पूजा के पश्चात कुष्मांडा माता की आरती अवस्य करें.
  • कुष्मांडा माता भी माँ दुर्गा का ही रूप है.
  • माता की आरती करना अत्यंत ही शुभ फलदायक सिद्ध होती है.
  • कुष्मांडा माता की कृपा से रोगों और कष्टों से मुक्ति मिलती है और आयु, यश में बृद्धि होती है.
कुष्मांडा माता पूजा नवरात्रि के किस दिन की जाती है?

नवरात्रि के चौथे दिन कुष्मांडा माता की पूजा की जाती है.

कालरात्रि माता की आरती – Kaalratri Mata Ki Aarti

स्कंदमाता की आरती Skandmata Ki Aarti

चंद्रघंटा माता की आरती – Chandraghanta Mata Ki Aarti

ब्रह्मचारिणी माता की आरती – Brahmacharini Mata Ki Aarti

Shailputri Mata Ki Aarti – शैलपुत्री माता की आरती

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.