Sita Mata Maithili Aarti – सीता बिराजथि मिथिलाधाम आरती

Sita Mata Maithili Aarti | सीता माता की मैथिलि आरती – आज हम माता सीता की आराधना और स्तुति के लिए सीता माता की मैथिलि आरती का प्रकाशन कर रहें हैं.

माता सीता का जन्म मिथिला प्रदेश में हुआ था. माता सीता मिथिला की राजकुमारी होने के कारण उनका एक नाम मैथिलि भी है. सम्पूर्ण मिथिलांचल में माता सीता की पूजा आराधना सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ की जाती है.

Sita Mata Maithili Aarti | सीता माता की मैथिलि आरती

|| सीता माता की आरती ||

सीता बिराजथि मिथिलाधाम सब मिलिकय करियनु आरती।
संगहि सुशोभित लछुमन-राम सब मिलिकय करियनु आरती।।

विपदा विनाशिनि सुखदा चराचर,सीता धिया बनि अयली सुनयना घर
मिथिला के महिमा महान…सब मिलिकय करियनु आरती।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम ……………

सीता सर्वेश्वरि ममता सरोवर,बायाँ कमल कर दायाँ अभय वर
सौम्या सकल गुणधाम…..सब मिलिकय करियनु आरती।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम ……………

रामप्रिया सर्वमंगल दायिनि,सीता सकल जगती दुःखहारिणि
करथिन सभक कल्याण…सब मिलिकय करियनु आरती।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम ……………

सीतारामक जोड़ी अतिभावन,नैहर सासुर कयलनि पावन
सेवक छथि हनुमान…सब मिलिकय करियनु आरती।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम ……………

ममतामयी माता सीता पुनीता,संतन हेतु सीता सदिखन सुनीता
धरणी-सुता सबठाम…सब मिलिकय करियनु आरती ।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम ……………

शुक्ल नवमी तिथि वैशाख मासे,’चंद्रमणि’ सीता उत्सव हुलासे
पायब सकल सुखधाम…सब मिलिकय करियनु आरती।।

सीता बिराजथि मिथिलाधाम सब मिलिकय करियनु आरती।।

माता सीता की स्तुति के लिए आप इस आरती श्री जनक दुलारी की को भी देखें.

कुछ अन्य प्रकाशनों को भी देखें –

Jay Adhya Shakti Aarti – जय आद्या शक्ति आरती

जग जननी जय जय आरती | Jag Janani Jai Jai – Durga Mata Aarti

ॐ जय अम्बे गौरी आरती | Om Jai Ambe Gauri Aarti

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.