Brahmacharini Mantra – ब्रह्मचारिणी माता मंत्र, स्तुति, स्तोत्रम्

Brahmacharini Mantra : Collection of Brahmacharini Mata Mantras, Stotras, Stuti, Prarthna and Kavach Mantras for the worship of Brahmacharini Mata.

ब्रह्मचारिणी मंत्र : ब्रह्मचारिणी माता की पूजा आराधना के लिए ब्रह्मचारिणी माता मंत्र, स्तोत्र, कवच, स्तुति और प्रार्थना मंत्र का संग्रह.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. इस पोस्ट में हम ब्रह्मचारिणी माता की आराधना और स्तुति के लिए कुछ महत्वपूर्ण मंत्रों और स्तोत्रों का प्रकाशन कर रहें हैं.

इससे आप सब ब्रह्मचारिणी माता की पूजा आराधना अच्छे से कर पायेंगे.

तो सबसे पहले कुछ जानकारी ब्रह्मचारिणी माता के बारे में.

भक्तिपूर्वक बोलिये जय माँ दुर्गे.

ब्रह्मचारिणी माता (Brahmacharini Mata)

नवरात्रि के दुसरे दिन यानी द्वितीया तिथि को ब्रह्मचारिणी माता की पूजा की जाती है. ब्रह्मचारिणी माता भी आदिशक्ति माँ पार्वती का ही एक रूप है.

ब्रह्म शब्द का अर्थ होता है तपस्या और चारिणी शब्द का अर्थ होता है आचरण करने वाली, इस तरह से ब्रह्मचारिणी माता का शाब्दिक अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली.

माता ब्रह्मचारिणी ने अथक तपस्या के बल पर महादेव शिव को पति रूप में पाया था.

इनके दाहिने हाथ में जप की माला और बाएं हाथ में कमंडल सुशोभित है. माता परम दयालु हैं.

ब्रह्मचारिणी माता की पूजा आरधना करना मनुष्य के लिए अत्यंत ही शुभ फलदायक होता है. मान्यताओं के अनुसार मंगल ग्रह पर माता ब्रह्मचारिणी का प्रभाव है. इस कारण से अगर मंगल दोष के कारण कोई विपदा या कष्ट हो तो ब्रह्मचारिणी माता की पूजा आराधना से वह दूर हो जाता है.

Brahmacharini Mata Mantra : ब्रह्मचारिणी माता मंत्र

निचे दिए गये मंत्र के पाठ के माध्यम से आप ब्रह्मचारिणी माता की आराधना कर सकतें हैं.

ॐ देवी ब्रह्मचारिण्यै नमः॥

स्तुति मंत्र : Stuti Mantra

ब्रह्मचारिणी माता स्तुति मंत्र निचे दिया गया है. इस मंत्र के जाप से आप सब ब्रह्मचारिणी माता की स्तुति करें.

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

प्रार्थना मंत्र : Prarthana Mantra

ब्रह्मचारिणी माता प्रार्थना मंत्र निचे दिया गया है.

दधाना कर पद्माभ्यामक्षमाला कमण्डलू।
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥

ध्यान मंत्र : Dhyan Mantra

ब्रह्मचारिणी माता का ध्यान करने के लिए आप निचे दिए गए मंत्र का पाठ करें और ह्रदय में ब्रह्मचारिणी माता का ध्यान करें.

वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
जपमाला कमण्डलु धरा ब्रह्मचारिणी शुभाम्॥
गौरवर्णा स्वाधिष्ठानस्थिता द्वितीय दुर्गा त्रिनेत्राम्।
धवल परिधाना ब्रह्मरूपा पुष्पालङ्कार भूषिताम्॥
परम वन्दना पल्लवाधरां कान्त कपोला पीन।
पयोधराम् कमनीया लावणयं स्मेरमुखी निम्ननाभि नितम्बनीम्॥

Brahmacharini Mata Kavach Mantra ब्रह्मचारिणी माता कवच मंत्र

निचे दिए गये कवच मंत्र से ब्रह्मचारिणी माता की आराधना करें. आप पर ब्रह्मचारिणी माता की कृपा हमेशा ही बनी रहेगी.

त्रिपुरा में हृदयम् पातु ललाटे पातु शङ्करभामिनी।
अर्पण सदापातु नेत्रो, अर्धरी च कपोलो॥
पञ्चदशी कण्ठे पातु मध्यदेशे पातु महेश्वरी॥
षोडशी सदापातु नाभो गृहो च पादयो।
अङ्ग प्रत्यङ्ग सतत पातु ब्रह्मचारिणी।

Brahmacharini Mata Stotra : ब्रह्मचारिणी माता स्तोत्र

ब्रह्मचारिणी माता की स्तुति निचे दिए गये स्तोत्र के पाठ से करें.

तपश्चारिणी त्वंहि तापत्रय निवारणीम्।
ब्रह्मरूपधरा ब्रह्मचारिणी प्रणमाम्यहम्॥
शङ्करप्रिया त्वंहि भुक्ति-मुक्ति दायिनी।
शान्तिदा ज्ञानदा ब्रह्मचारिणी प्रणमाम्यहम्॥

ब्रह्मचारिणी माता की आरती | Brahmacharini Mata Ki Aarti

ब्रह्मचारिणी माता को किस देवी का रूप माना जाता है?

माँ ब्रह्मचारिणी को आधिशक्ति माँ पार्वती का रूप माना जाता है. नवरात्रि के दुसरे दिन ब्रह्मचारिणी माता की पूजा की जाती है.

आप अपने विचार हमें कमेंट में लिख सकतें हैं.

Chandraghanta Mantra : चंद्रघंटा माता की स्तुति के लिए मंत्र संग्रह

Kushmanda Mantra : कुष्मांडा माता मंत्र संग्रह

Durga Chalisa in Hindi Lyrics – दुर्गा चालीसा पाठ

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.