Maa Shailputri Mantra : माँ शैलपुत्री मंत्र, स्तुति, स्तोत्र, प्रार्थना, कवच

In this post we are publishing Maa Shailputri Mantra, Prarthna Mantra, Kavach, Stuti Mantra, Dhyan Mantra and Stotra to worship Maa Shailputri.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. आज इस पोस्ट में हम माँ शैलपुत्री की आराधना और पूजा के लिए माँ शैलपुत्री मंत्र, प्रार्थना मंत्र, ध्यान मंत्र, कवच, स्तुति मंत्र और स्तोत्र प्रकाशित कर रहें हैं.

इन सबके माध्यम से आप सब देवी शैलपुत्री की आराधना और पूजा कर सकतें हैं.

तो चलिए शुरू करतें हैं. सबसे पहले हम सब माँ शैलपुत्री के बारे में कुछ जानकारी प्राप्त करेंगे. तो आप सब श्रद्धापूर्वक बोलिए जय माँ दुर्गा.

माँ शैलपुत्री | Maa Shailputri

माँ दुर्गा के नौ रूपों में शैलपुत्री प्रथम रूप मानी जाती है. नवरात्रि के प्रथम दिन माँ शैलपुत्री की ही पूजा की जाती है.

पर्वतराज हिमालय के यहाँ जन्म लेने के कारण माता को शैलपुत्री कहा जाता है. माता शैलपुत्री के अन्य नाम पार्वती और हैमवती है.

माँ शैलपुत्री देवी सती ही है. पूर्व जन्म में उन्होंने दक्ष प्रजापति के यहाँ जन्म लिया था. उन्होंने तपस्या करके भगवान शिव की पति रूप में पाया था.

एक बार राजा दक्ष ने यज्ञ किया. इस यज्ञ में भगवान शिव को आमंत्रित नहीं किया गया. सती अपने पिता के यहाँ विशाल यज्ञ होने की बात सुन कर वहां जाती हैं. वहां अपने पति महादेव शिव के प्रति अपमान जनक बातों को सुनकर माता सती को सहन नहीं होता है. और वहीँ वे अपने उस रूप को योगाग्नि में भष्म कर देतीं हैं.

बाद में सती पर्वतराज हिमालय के यहाँ जन्म लिया. शैलपुत्री रूप में भी उन्होंने महादेव शिव से ही विवाह किया.

माँ शैलपुत्री वृषभ पर सवार रहतीं हैं. इन्हें वृषारूढा भी कहा जाता है. शैलपुत्री माता के दाहिने हाथ में त्रिशूल और बाएं हाथ में कमल पुष्प सुशोभित रहती है.

Maa Shailputri Mantra माँ शैलपुत्री मंत्र

माँ शैलपुत्री की स्तुति के लिए आप निचे दिए गए मंत्र का जाप कर सकतें हैं.

ॐ देवी शैलपुत्र्यै नमः॥

स्तुति मंत्र

निचे दिए गए मंत्र के पाठ से आप माँ शैलपुत्री की स्तुति करें.

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ शैलपुत्री रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

प्रार्थना मंत्र

माँ शैलपुत्री के निचे दिए गए मंत्र के माध्यम से आप प्रार्थना करें.

वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥

ध्यान मंत्र

वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥
पूणेन्दु निभाम् गौरी मूलाधार स्थिताम् प्रथम दुर्गा त्रिनेत्राम्।
पटाम्बर परिधानां रत्नाकिरीटा नामालंकार भूषिता॥
प्रफुल्ल वन्दना पल्लवाधरां कान्त कपोलाम् तुगम् कुचाम्।
कमनीयां लावण्यां स्नेमुखी क्षीणमध्यां नितम्बनीम्॥

Maa Shailputri Kavach Mantra माँ शैलपुत्री कवच मंत्र

निचे दिए गए मंत्र के माध्यम से माँ शैलपुत्री की आराधना करें. माँ की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी.

ॐकारः में शिरः पातु मूलाधार निवासिनी।
हींकारः पातु ललाटे बीजरूपा महेश्वरी॥
श्रींकार पातु वदने लावण्या महेश्वरी।
हुंकार पातु हृदयम् तारिणी शक्ति स्वघृत।
फट्कार पातु सर्वाङ्गे सर्व सिद्धि फलप्रदा॥

Maa Shailputri Stotra माँ शैलपुत्री स्तोत्र

माँ शैलपुत्री की स्तुति निचे दिए गये इस शैलपुत्री स्तोत्र के पाठ से करें.

प्रथम दुर्गा त्वंहि भवसागरः तारणीम्।
धन ऐश्वर्य दायिनी शैलपुत्री प्रणमाम्यहम्॥
त्रिलोजननी त्वंहि परमानन्द प्रदीयमान्।
सौभाग्यरोग्य दायिनी शैलपुत्री प्रणमाम्यहम्॥
चराचरेश्वरी त्वंहि महामोह विनाशिनीं।
मुक्ति भुक्ति दायिनीं शैलपुत्री प्रणमाम्यहम्॥

माँ शैलपुत्री की आरती के लिए आप निचे दिए गए लिंक पर जाएँ.

Shailputri Mata Ki Aarti – शैलपुत्री माता की आरती

शैलपुत्री माता को अन्य किन नामों से जाना जाता है?

माता शैलपुत्री को हैमवती, पार्वती आदि नामों से जाना जाता है. माँ शैलपुत्री देवी दुर्गा की ही प्रथम रूप है.

माता सती के बारे में जानकारी विकिपीडिया से

Chandraghanta Mantra : चंद्रघंटा माता की स्तुति के लिए मंत्र संग्रह

Kushmanda Mantra : कुष्मांडा माता मंत्र संग्रह

Durga Chalisa in Hindi Lyrics – दुर्गा चालीसा पाठ

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.