You are currently viewing Papankusha Ekadashi 2024 पापांकुशा एकादशी की जानकारी

Papankusha Ekadashi 2024 पापांकुशा एकादशी की जानकारी

Papankusha Ekadashi | पापांकुशा एकादशी कब है? In this post we will get information about Papankusha Ekadashi. When is Papankusha Ekadashi? Papankusha Ekadashi 2024 date and importance of Papankusha Ekadashi.

पापांकुशा एकादशी : इस पोस्ट में हम पापांकुशा एकादशी के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे. पापांकुशा एकादशी कब है? पापांकुशा एकादशी व्रत 2024 तारीख तथा पापांकुशा एकादशी व्रत का महत्व.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. एकादशी व्रत करना मनुष्य के लिए अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है. प्रत्येक महीने दो एकादशी व्रत होतें हैं एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में. सभी एकादशी व्रत करना अत्यंत ही शुभ फलदायी होता है.

पापांकुशा एकादशी व्रत का हिन्दू धर्म में बहुत अधिक धार्मिक महत्व माना गया है. जैसा की इस एकादशी के नाम से ही स्पष्ट है की पापांकुशा एकादशी व्रत के फलस्वरूप मनुष्य के पापों का नाश होता है और श्री विष्णु की पावन कृपा की प्राप्ति होती है.

इस व्रत को करने वालों को हमेशा ही सत्कर्म करना आवस्यक है. जीवन में पाप कर्मों से दूर रहना आवस्यक है. किसी भी प्रकार के मिथ्या बात नहीं करना है झूठ नहीं बोलना है तथा सदा सदाचारी बने रहना है.

अगर मनुष्य अपना जीवन सदाचार में बिताता है और श्री विष्णु की ह्रदय से आराधना करता है तो उसे श्री विष्णु की परम कृपा की प्राप्ति होती है. वह इस लोक के समस्त सुखों का भोग करता है और मरणोपरांत उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है.

अब हम पापांकुशा एकादशी कब है? (Papankusha Ekadashi 2024) के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

Papankusha Ekadashi 2024 | पापांकुशा एकादशी व्रत कब है?

पापांकुशा एकादशी व्रत आश्विन महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि की किया जाता है.

साल 2024 में पापांकुशा एकादशी व्रत 13 अक्टूबर 2024, दिन रविवार और 14 अक्टूबर 2024 दिन सोमवार को है. किस दिन किनको एकादशी व्रत करना है, इसकी जानकारी हम आगे दे रहें हैं.

पापांकुशा एकादशी व्रत 2024 तारीख13 अक्टूबर 2024, रविवार | 14 अक्टूबर 2024, सोमवार
Papankusha Ekadashi 2024 Date13 October 2024, Sunday | 14 October 2024, Monday

जो लोग पारिवारिक जीवन में हैं उन्हें प्रथम दिन अर्थात 13 अक्टूबर 2024, रविवार को व्रत करना चाहिए. साधू, विधवा तथा अन्य को दुसरे दिन अर्थात 14 अक्टूबर 2024, सोमवार को व्रत करना चाहिए. कुछ विशेष श्रद्धालु दोनों दिन एकादशी व्रत कर सकेंगे.

अब हम आश्विन माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि कब प्रारंभ हो रही है और कब समाप्त हो रही है? की जानकारी प्राप्त करेंगे.

आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि की जानकारी

पापांकुशा एकादशी व्रत आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी के दिन ही किया जाता है. इस कारण से आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी होता आवस्यक है. इस कारण से हमने यहाँ आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि प्रारंभ13 अक्टूबर 2024, रविवार
09:08 am
आश्विन शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि समाप्त14 अक्टूबर 2024, सोमवार
06:41 am

पापांकुशा एकादशी व्रत का महत्व (Importance of Papankusha Ekadashi)

Papankusha Ekadashi
  • पापांकुशा एकादशी व्रत एक बहुत ही महत्वपूर्ण श्री विष्णु भगवान को समर्पित एकादशी व्रत है.
  • इस एकादशी को आश्विन शुक्ल एकादशी व्रत के नाम से भी जाना जाता है.
  • पापांकुशा एकादशी व्रत में श्री विष्णु के ही रूप पदमनाभ जी की पूजा करना अत्यंत ही शुभ माना गया है.
  • मनुष्य के समस्त पापों का नाश करने की शक्ति पापांकुशा एकादशी व्रत में है.
  • इस पापांकुशा एकादशी व्रत करने वाले श्री विष्णु भक्त को पाप कर्मों से दूर रहना चाहिए और सदा सत्य बोलना चाहिए.
  • ब्राह्मणों को भोजन करवाना और गरीबों को दान देना बहुत ही शुभ माना गया है.
  • पापांकुशा एकादशी व्रत के महत्व के बारे में विवरण ब्रह्मवैवर्त पुराण में दिया गया है.
  • जो मनुष्य सच्चे हृदय से नियम पूर्वक पापांकुशा एकादशी व्रत करतें हैं और श्री विष्णु की आराधना करतें हैं. उन्हें श्री विष्णु की पावन कृपा की प्राप्ति होती और उन्हें कभी भी नरक की यातना नहीं सहनी पड़ती है. उस मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति श्री विष्णु की कृपा से होती है.
पापांकुशा एकादशी व्रत कब किया जाता है?

आश्विन महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पापांकुशा एकादशी व्रत किया जाता है. इस साल पापांकुशा एकादशी व्रत की तारीख और समय जानने के लिए सोनाटुकु डॉट कॉम पर जानकारी दी गई है.

Ekadashi Aarti – एकादशी व्रत के दिन की शुभ एकादशी आरती

आप अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं. आपके विचारों से हमें और बेहतर प्रकाशन की प्रेरणा मिलती है.

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.

Leave a Reply