Dahi Handi 2023 Date – दही हाण्डी, गोपालकाला उत्सव

जन्माष्टमी उत्सव से जुड़ा एक अत्यंत ही महत्वपूर्ण उत्सव या प्रतियोगिता है दही हाण्डी (Dahi Handi) या गोपालकाला उत्सव (Gopalkala Festival).

जैसा की मैंने आप सब लोगों को बताया हुआ है की जन्माष्टमी को कृष्ण जन्माष्टमी या गोकुलाष्टमी (Gokulashtami) के नाम से भी जाना जाता है.

नमस्कार स्वागत है आपका sonatuku.com पर.

भगवान श्री कृष्ण की जयंती से जुड़ा हुआ है, दही हाण्डी का महत्वपूर्ण उत्सव. भारत के महाराष्ट्र और गोवा राज्यों में दही हाण्डी एक अत्यंत ही प्रमुख उत्सव है.

आज कल दही हाण्डी का उत्सव एक प्रतियोगिता के रूप में प्रचलित हो गया है. जिसमे जितने वाले समूह को बहुत अधिक पुरुस्कार प्रदान किया जाता है.

कही कहीं तो यह प्रोत्साहन एक करोड़ रूपये तक का होता है. इसमें बड़ी-बड़ी हस्तियाँ हिस्सा लेती हैं.

सम्पूर्ण परिवेश गोविंदा आला रे ….. के उद्घोष से गूंजता रहता है.

चलिए अब हम सब साल 2023 में दही हाण्डी का उत्सव कब है? (Dahi Handi 2023) के बारे में जानकारी प्राप्त करतें हैं.

Dahi Handi 2023 Date – दही हाण्डी | गोपालकाला उत्सव

dahi handi date

साल 2023 में दही हाण्डी 07 सितम्बर 2023, गुरुवार को है.

दही हाण्डी 2023 तारीख07 सितम्बर 2023, गुरुवार
Dahi Handi 2023 Date07 September 2023, Thursday

दही हाण्डी उत्सव (Dahi Handi Festival) से जुड़ी कुछ बातें

Dahi Handi Special

दही हाण्डी का उत्सव भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं से जुड़ा हुआ एक बहुत ही महत्वपूर्ण उत्सव है.

बाल काल में भगवान श्री कृष्ण ने जो बाल लीला की थी उसका सजीव चित्रण है दही हाण्डी का उत्सव.

जैसा की आप सब लोगों को पता है की भगवान श्री कृष्ण अपने बचपन में गोपियों के घरों से माखन चुरा कर खा जाते थे.

इस कारण से गोपियों ने माखन की हांडी को ऊपर बांधना शुरू कर दिया. ताकि श्री कृष्ण और उनकी बाल सखा मण्डली माखन तक नहीं पहुँच सकें.

परन्तु श्री कृष्ण अपने बाल सखाओं के साथ एक मानव पर्वत की तरह आकार बनाकर माखन चुरा ही लेते थे.

भगवान श्री कृष्ण की इसी लीला को आज हम सब दही हाण्डी के रूप में मनाते हैं.

इसमें दही, मक्खन आदि से भरी हांडी (मिट्टी का बर्तन) को किसी चौराहे या खुले जगह पर बहुत ऊपर टांग दिया जाता है.

युवाओं की टोली मानव पर्वत बनाकर इस हांडी तक पहुँचने का प्रयास करती है. अन्य लोगों और युवतियों द्वारा उन पर पानी की बौछार की जाती है.

इनमे ये कई बार गिरतें भी है और अंत में कोई एक टोली इस हांडी तक पहुँच ही जाती है.

आज के अत्यंत ही महत्वपूर्ण प्रकाशन को हम यहीं समाप्त करतें हैं. अगर आपको यह प्रकाशन अच्छा लगा तो आप कमेंट बॉक्स में गोविंदा आला रे …. अवस्य लिखें.

जय श्री कृष्णा.

दही हाण्डी का उत्सव भगवान श्री कृष्ण की किस बाल लीला से जुड़ा हुआ उत्सव है?

भगवान श्री कृष्ण अपने बाल काल में अपनी सखाओं के साथ मिलकर गोपियों के घरों से माखन चुरा का खा जाते थे.
उनकी इसी बाल लीला से जुड़ा हुआ दही हाण्डी का महत्वपूर्ण उत्सव है.

भारत के किन राज्यों में दही हाण्डी का उत्सव अत्यंत ही लोकप्रिय है?

भारत के महाराष्ट्र राज्य में दही हाण्डी का उत्सव बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय है. साथ ही गोवा राज्य में भी दही हाण्डी का उत्सव मनाया जाता है.

कुछ अन्य महत्वपूर्ण प्रकाशनों को देखें –

Krishna Aarti | कृष्ण भगवान की आरती – Aarti Kunj Bihari Ki

Diwali date | दिवाली कब है? – तारीख, शुभ मुहूर्त, महत्व

Karwa Chauth Date करवा चौथ कब है? तारीख और महत्व

धनतेरस कब है? धनतेरस तारीख और शुभ मुहूर्त, पूरी जानकारी

Govardhan Puja date गोवर्धन पूजा तारीख, मुहूर्त, महत्व, कथा

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.