Gudi Padwa 2023 – गुड़ी पड़वा 2023 में कब है? तारीख और महत्व

Gudi Padwa 2023 – In this post today we will get information about Gudi Padwa festival. When is Gudi Padwa festival celebrated? Gudi Padwa 2023 Date, Significance of Gudi Padwa.

गुड़ी पड़वा – इस पोस्ट में हम गुड़ी पड़वा त्यौहार के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे. गुड़ी पड़वा कब है? गुड़ी पड़वा 2023 तारीख तथा गुड़ी पड़वा का महत्व.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर.

नव वर्ष की शुरुआत के पहले दिन को हम सब काफी हर्ष के साथ मनाते हैं. पुरे भारत में हम अपना नव वर्ष धार्मिक रीती रिवाजों के अनुसार मनाते हैं.

देश के अलग अलग भागों में नव वर्ष को हम सब अलग अलग नामों से मनाते हैं. महाराष्ट्र में नव वर्ष के पहले दिन यानी की नव वर्ष के उत्सव को गुड़ी पड़वा त्यौहार के रूप में मनाया जाता है.

दक्षिण भारत के राज्यों में इस नए वर्ष को Ugadi – उगादी के नाम से मनाया जाता है. इस दिन से ही चैत्र नवरात्रि की शुरुआत भी होती है.

महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा का त्यौहार बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है.

तो चलिए हम सब गुड़ी पड़वा का त्यौहार 2023 में कब है? के बारे में जानकारी प्राप्त करतें हैं.

Gudi Padwa 2023 – गुड़ी पड़वा 2023 में कब है?

गुड़ी पड़वा का त्यौहार चैत्र महीने की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि यानी की पहले दिन मनाई जाती है. इस दिन महाराष्ट्र के नए कैलेंडर की शुरुआत होती है.

इसे मराठी नूतन वर्ष भी कहा जाता है.

इस दिन से ही हिन्दू नव वर्ष की शुरुआत होती है.

साल 2023 में गुड़ी पड़वा का त्यौहार 22 मार्च 2023, दिन बुधवार को मनाई जायेगी.

गुड़ी पड़वा 2023 तारीख22 मार्च 2023, बुधवार
Gudi Padwa 2023 Date22 March 2023, Wednesday

Importance of Gudi Padwa

gudi padwa wishesh
  • गुड़ी पड़वा का त्यौहार महाराष्ट्र के लोगों का एक बहुत ही पौराणिक और पवित्र त्यौहार है.
  • इस दिन से नए वर्ष की शुरुआत होती है.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन ही भगवान ब्रह्मा ने ब्रह्माण्ड की रचना की थी.
  • इस दिन से ही सतयुग का प्रारंभ माना जाता है.
  • यह बहुत ही पवित्र दिन होता है.
  • इस दिन से ही चैत्र नवरात्रि की शुरुआत होती है.
  • गुड़ी पड़वा में भगवान ब्रह्मा और श्री विष्णु की आराधना की जाती है.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गुड़ी पड़वा का त्यौहार सुख और समृद्धि लाता है.

गुड़ी पड़वा त्यौहार के बारे में कुछ जानकारी

गुड़ी पड़वा महाराष्ट्र के लोगों के नव वर्ष का उत्सव है. वहां यह त्यौहार अत्यंत ही धूमधाम और हर्ष के साथ मनाया जाता है. इस दिन वहां कई जगहों पर जुलुश भी निकाला जाता है.

लोग अपने घरों को अच्छे से साफ़ सफाई करने के पश्चात घर को अच्छे से सजातें हैं. घरों को सजाने में आम के पत्तों का भी इस्तेमाल किया जाता है. घरों के आँगन में खुबसूरत रंगोली बनाई जाती है.

इस दिन लोग नए परिधानों को धारण करतें हैं. कई तरह के पकवान बनाए जातें हैं.

गुड़ी पड़वा के दिन प्रातः काल शरीर पर तेल लगाकर स्नान करने की परंपरा है.

इस दिन गुड़ी फहराई जाती है. गुड़ी को आम के पत्तों और फूलों से सजाया जाता है. गुड़ी के चारों ओर खूबसूरत गुड़ी पड़वा रंगोली बनाई जाती है.

भगवान श्री ब्रह्मा, श्री विष्णु और इष्ट देव की पूजा की जाती है. सुख समृद्धि और सुरक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना की जाती है.

गुड़ी पड़वा का त्यौहार कब मनाई जाती है?

गुड़ी पड़वा का त्यौहार हिन्दू कैलेंडर के चैत्र महीने की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाई जाती है.

कौन से राज्य में गुड़ी पड़वा का त्यौहार हर्ष और उल्लास के साथ मुख्य रूप से मनाया जाता है?

महाराष्ट्र राज्य में गुड़ी पड़वा का त्यौहार अत्यंत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है.

किसी भी प्रकार के सुझाव और सलाह के लिए आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं.

आप सभी को सोनाटुकु डॉट कॉम परिवार की तरफ से गुड़ी पड़वा की हार्दिक शुभकामनाएं.

हनुमान जयंती कब है? Hanuman Jayanti Date Time puja vidhi

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.