Navratri 2022 5th Day – नवरात्रि 2022 पंचमी स्कंदमाता पूजा

शारदीय नवरात्रि 2022 के पांचवें दिन माँ स्कंदमाता की पूजा की जायेगी (Shardiya Navratri 2022 5th Day Skandmata Puja).

नमस्कार, आपका स्वागत है sonatuku.com पर.

आज के इस प्रकाशन में हम शारदीय नवरात्रि (Navratri 2022) के पांचवें दिन यानी की पंचमी पूजा के रूप में माँ स्कंदमाता की पूजा के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

माँ स्कंदमाता की पूजा नवरात्रि के पंचमी तिथि को की जाती है. माँ दुर्गा के नौ रूपों में से पांचवें स्वरुप में स्कंदमाता को माना गया है.

इनकी पूजा और आराधना करना मनुष्य के लिए अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है.

माँ स्कंदमाता की पूजा आराधना के लिए हमने मंत्र, स्तोत्र आदि का प्रकाशन किया है. उस प्रकाशन का लिंक हमने निचे दिया हुआ है. आप उस प्रकाशन के माध्यम से माँ स्कंदमाता की पूजा आराधना कर सकतें हैं.

Skandmata : स्कंदमाता ― विवरण, मंत्र, स्तोत्र और आरती

शारदीय नवरात्रि की शुरुआत कलश स्थापना से होती है. कलश स्थापना के दिन ही माँ दुर्गा के प्रथम स्वरुप माँ शैलपुत्री की पूजा की जाती है.

द्वितीय तिथि को माँ दुर्गा के ब्रह्मचारिणी स्वरुप की पूजा की जाती है. तृतीय तिथि को माँ चंद्रघंटा की पूजा की जाती है. चतुर्थी तिथि को माँ दुर्गा के कुष्मांडा स्वरुप की पूजा की जाती है.

चलिए अब हम माँ दुर्गा के पांचवे स्वरुप माँ स्कंदमाता की पूजा के बारे में जानकारी प्राप्त करतें हैं.

Shardiya Navratri 2022 5th Day Skandmata Puja – शारदीय नवरात्रि 2022 पंचमी स्कंदमाता पूजा

Shardiya Navratri 5th Day Skandmata Puja

आश्विन माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को माँ दुर्गा के पांचवें स्वरुप माँ स्कंदमाता की पूजा आराधना की जाती है.

साल 2022 में शारदीय नवरात्रि पंचमी माँ स्कंदमाता पूजा 30 सितम्बर 2022, दिन शुक्रवार को है.

Shardiya Navratri 2022 5th Day Skandmata Puja30 September 2022, Friday
शारदीय नवरात्रि 2022 पंचमी स्कंदमाता पूजा30 सितम्बर 2022, शुक्रवार

स्कंदमाता की आराधना के लिए – स्कंदमाता की आरती Skandmata Ki Aarti

Navratri 6th Day (Shashthi) Katyayani Puja – नवरात्रि षष्ठी कात्यायनी पूजा

आप सब भक्तिपूर्वक स्कंदमाता की पूजा आराधना करें. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ नवरात्रि का उत्सव मनाये. माँ दुर्गा की आराधना और स्तुति का शुभ फल कभी भी निष्फल नहीं जाता है.

दुर्गा माता की आराधना से संबंद्धित कुछ महत्वपूर्ण प्रकाशनों की सूचि हमने निचे दी हुई है. आप इन्हें भी देख सकतें हैं.

ॐ जय अम्बे गौरी आरती | Om Jai Ambe Gauri Aarti

Durga Chalisa in Hindi Lyrics – दुर्गा चालीसा पाठ

जग जननी जय जय आरती | Jag Janani Jai Jai – Durga Mata Aarti

आरती जग जननी मैं तेरी गाऊं – दुर्गा आरती Aarti Jag Janani Main

Mangal Ki Seva Sun Meri Deva | मंगल की सेवा सुन मेरी देवा

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.