Sheetala Ashtami 2023 – शीतला अष्टमी 2023 तारीख और महत्व

Sheetala Ashtami 2023 – Information related to Sheetala Ashtami is given in this post. When is Sheetala Ashtami? Sheetla Ashtami 2023 date and importance of Sheetala Ashtami.

शीतला अष्टमी 2023 – इस पोस्ट में शीतला अष्टमी से संबंद्धित जानकारी दी गई है. शीतला अष्टमी कब है? शीतला अष्टमी 2023 तारीख और महत्व के साथ-साथ शीतला अष्टमी से संबंद्धित अन्य धार्मिक जानकारी.

नमस्कार, स्वागत है अप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. त्योहारों से संबंद्धित किसी भी जानकारी के लिए गूगल पर सर्च करें फेस्टिवल का नाम और सोनाटुकु.

ऑडियो

शीतला अष्टमी को हम सब माता शीतला की पूजा करतें हैं. यह हम सबका एक प्रमुख त्यौहार है. शीतला अष्टमी का त्यौहार मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, राजस्थान और गुजरात में मनाया जाता है. देश के अन्य भागों में भी शीतला अष्टमी का त्यौहार मनाया जाता है.

शीतला अष्टमी पूजा को बसोडा पूजा (Basoda Puja) के नाम से भी जाना जाता है.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शीतला माता की पूजा करने से चिकन पॉक्स, स्माल पॉक्स, मीजिल्स आदि बीमारियाँ नहीं होती हैं. इसके अलावा शीतला माता की कृपा से मनुष्य को रोगों और कष्टों से भी मुक्ति मिलती है.

चलिए अब हम सब शीतला अष्टमी 2023 कब है? (Sheetala Ashtami 2023) के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

Sheetla Ashtami 2023 – Basoda Puja | शीतला अष्टमी 2023 कब है?

शीतला अष्टमी का त्यौहार चैत्र महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है.

साल 2023 में शीतला अष्टमी का त्यौहार 15 मार्च 2023, दिन बुधवार को मनाई जायेगी.

शीतला अष्टमी 2023 तारीख15 मार्च 2023, बुधवार
Sheetala Ashtami 2023 Date15 March 2023, Wednesday

अब हम चैत्र महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

चैत्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि के बारे में जानकारी

शीतला अष्टमी का त्यौहार चैत्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि को ही मनाई जाती है. इस कारण से हमें चैत्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

चैत्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि प्रारंभ14 मार्च 2023, मंगलवार
08:22 pm
चैत्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि समाप्त15 मार्च 2023, बुधवार
06:45 pm

शीतला अष्टमी का महत्व | Importance of Sheetala Ashtami

  • शीतला अष्टमी का त्यौहार हम सबका एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है.
  • माता शीतला की आराधना और स्तुति करके उनकी कृपा पाने का यह एक उत्तम त्यौहार है.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माता शीतला की पूजा करने से मनुष्य को बिभिन्न प्रकार के रोगों और कष्टों से मुक्ति मिलती है.
  • माता शीतला की कृपा से चिकन पॉक्स, स्माल पॉक्स, मीजिल्स आदि से रक्षा होती है.
  • शीतला माता आरोग्य का वरदान देती हैं.

शीतला अष्टमी पूजा से संबंद्धित कुछ जानकारी

आप सबको बता दें की शीतला अष्टमी के लिए सप्तमी के दिन ही तैयारी कर ली जाती है. रसोई घर को अच्छे से साफ और पवित्र करने के पश्चात दुसरे दिन के लिए भोजन बना लिया जाता है.

शीतला अष्टमी के दिन प्रातः काल शीतला माता की पूजा अर्चना की जाती है. इस दिन माता शीतला के लिए व्रत भी रखा जाता है. शीतला माता चालीसा, कथा आदि का पथ किया जाता है और शीतला माता की आरती की जाती है.

फिर इसके पश्चात शीतला माता की गुड़, दही और सप्तमी की रात्री में बनाया गया भोजन से माता शीतला को भोग लगाया जाता है.

आप सबको बता दें की इस दिन घर में चूल्हा नहीं जलना चाहिए तथा सभी लोगों को सप्तमी की रात्री में बने भोजन को ही प्रसाद के रूप में ग्रहण करना चाहिए.

शीतला अष्टमी त्यौहार कब मनाई जाता है?

चैत्र महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को शीतला अष्टमी मनाई जाती है.

शीतला अष्टमी को अन्य इन नामों से जाना जाता है?

शीतला अष्टमी की बसोडा पूजा के नाम से भी जाना जाता है.

आप सबसे निवेदन है की कृपया आप अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में अवस्य लिखें.

कुछ और प्रकाशन –

Ram Navami Date – राम नवमी कब है? तारीख और शुभ मुहूर्त

चैत्र महीने के बारे में जानकारी विकिपीडिया से

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.