Shiv Gayatri Mantra श्री शिव गायत्री मंत्र – अत्यंत शक्तिशाली शिव मंत्र

Shiv Gayatri Mantra श्री शिव गायत्री मंत्र – श्री शिव गायत्री मंत्र को एक सिद्ध और अत्यंत शक्तिशाली शिव मंत्र माना गया है.

भगवान शिव की आराधना करने के लिए शिव गायत्री मंत्र का नियमित रूप से पाठ करना अत्यंत ही शुभ और सरल माध्यम माना गया है.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. श्री शिव गायत्री मंत्र का नियमित रूप से पाठ मनुष्य को भगवान शिव की परम कृपा प्रदान करता है.

मनुष्य के जीवन से संकटों का समापन श्री शिव गायत्री मंत्र के पाठ से होता है.

चलिए सबसे पहले हम श्री शिव गायत्री मंत्र का पाठ आरम्भ करतें हैं. फिर हम शिव गायत्री मंत्र के पाठ करने की विधि, महत्व आदि पर चर्चा करेंगे.

Shiv Gayatri Mantra श्री शिव गायत्री मंत्र

श्री शिव गायत्री मंत्र का सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ नियमित रूप से पाठ करें.

‘ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात।’

Shiv Gayatri Mantra Lyrics in English

Om Tatpurushay Bidmahe Mahadevaay Dhimahi Tanno Rudrah Prachodayat.

शिव गायत्री मंत्र पाठ विधि

  • नियमित रूप से रोजाना शिव गायत्री मंत्र का पाठ करना सबसे उत्तम होता है.
  • विशेष परिस्थिति में नियमित रूप से लगातार 21 दिनों तक श्री शिव गायत्री मंत्र का पाठ करना चाहिए.
  • शिव गायत्री मंत्र का पाठ 108 बार करना चाहिए.
  • एक रुद्राक्ष की माला लेकर पूरी एक माला रोजाना नियमित रूप से श्री शिव गायत्री मंत्र का पाठ करना चाहिए.
  • सम्पूर्ण रूप से स्वच्छ और पवित्र होने के पश्चात शिव जी की पूजा आराधना करें.
  • उसके पश्चात ही शिव गायत्री मंत्र का पाठ करें.
  • शिव गायत्री मंत्र के पाठ के समय अपना सम्पूर्ण ध्यान भगवान शिव के चरणों में लगाएं रखें.

Importance of Shiv Gayatri Mantra

  • शिव गायत्री मंत्र (Shiv Gayatri Mantra) एक सिद्ध और महत्वपूर्ण शिव मंत्र है.
  • यह एक अत्यंत ही शक्तिशाली शिव मंत्र है.
  • महादेव शिव की आराधना का यह एक शक्तिशाली माध्यम है.
  • शिव गायत्री मंत्र का पाठ करना अत्यंत ही सरल है.
  • शिव की कृपा प्राप्त करने का यह एक सरल माध्यम है.

शिव गायत्री मंत्र के पाठ से लाभ

  • श्री शिव गायत्री मंत्र के पाठ से महादेव शिव की परम कृपा की प्राप्ति होती है.
  • यह एक शक्तिशाली शिव मंत्र है.
  • इसके पाठ करने मात्र से ही मनुष्य के अंदर का भय समाप्त हो जाता है.
  • शिव गायत्री मंत्र के नियमित पाठ से साधक के चारों और एक सकारात्मक उर्जा का चक्र बन जाता है.
  • साधक की समस्त प्रकार के संकटों से महादेव शिव रक्षा करतें हैं.
  • जीवन में सफलता की प्राप्ति होती है.
  • नकारात्मक उर्जा शिव गायत्री मंत्र के पाठ से नष्ट होती है.
  • रोगों और कष्टों से मुक्ति शिव गायत्री मंत्र के नियमानुसार पाठ से मिलती है.

Shri Shiv Gayatri Mantra 108 Times

श्री शिव गायत्री मंत्र का पाठ 108 बार करना अत्यंत ही शुभ माना गया है. इस कारण स एहामने निचे विडियो दिया हुआ है. आप इस विडियो को देखकर शिव गायत्री मंत्र का 108 बार नियमित रूप से पाठ करें.

Shiv Gayatri Mantra 108 Times

video source – YouTube

किसी तरह की विशेष सलाह के लिए आप अपने ज्योतिष या पुरोहित से संपर्क कर सकतें हैं.

अगर आपके कोई सलाह हो या फिर आप कुछ पूछना चाहतें हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं. आप अपने विचार भी दुनिया से कमेन्ट के माध्यम से साझा कर सकतें हैं.

कमेंट के लिए वेबसाइट का नाम नहीं डालें.

श्री शिव गायत्री मंत्र का पाठ कितने बार करना शुभ माना गया है?

श्री शिव गायत्री मंत्र का 108 बार नियमित रूप से पाठ करना शुभ माना गया है.

भगवान शिव से संबंद्धित कुछ अन्य प्रकाशनों की सूचि –

शंकर भगवान की आरती – Shankar Bhagwan Ki Aarti

Dwadash Jyotirling Stotram | द्वादश ज्योतिर्लिंग स्तोत्रम्

Bilwashtakam | बिल्वाष्टकम – महादेव शिव की करें स्तुति

Batuk Bhairav Chalisa | बटुक भैरव चालीसा

Batuk Bhairav Aarti | बटुक भैरव आरती

Bhairav Chalisa | भैरव चालीसा – शक्तिशाली भैरव श्लोक

Om Jai Shiv Omkara Aarti | ॐ जय शिव ओमकारा आरती

Shiv Chalisa : शिव चालीसा

Sheesh Gang Ardhang Parvati शीश गंग अर्द्धांग पार्वती (शिव भजन)

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.