Jaya Ekadashi Vrat 2025 | जया एकादशी व्रत कब है?

Jaya Ekadashi vrat

जया एकादशी व्रत 2025 (Jaya Ekadashi Vrat 2025) – इस पोस्ट में हम जया एकादशी के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे – जया एकादशी कब है? तारीख और महत्व के साथ साथ अन्य धार्मिक जानकारी इस पोस्ट में दी गई है.

Jaya Ekadashi 2025 (जया एकादशी व्रत कब है?) – Get information about Jaya Ekadashi – When is Jaya Ekadashi in 2025? Date and significance, information about Ekadashi date of February 2025.

www.sonatuku.com में आपका हार्दिक अभिनंदन.

भगवान श्री विष्णु को समर्पित सभी एकादशी व्रत का अपना अलग महत्व होता है. जया एकादशी का व्रत भी एक अत्यंत ही महत्वपूर्ण एकादशी व्रत है.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जया एकादशी का व्रत करने से मनुष्य को त्रिदेव ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों के व्रत करने का पुण्य प्राप्त होता है.

चलिए अब हम सब जया एकादशी 2025 (Jaya Ekadashi 2025) के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

Jaya Ekadashi 2025 | जया एकादशी कब है?

जया एकादशी का व्रत माघ महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को किया जाता है.

साल 2025 में जया एकादशी का व्रत 08 फरवरी 2025, दिन शनिवार को किया जाएगा.

अगर आप भी जया एकादशी जो की माघ शुक्ल पक्ष एकादशी को किया जाता है तो आप इसे 08 फरवरी 2025, दिन शनिवार को करें.

जया एकादशी 2025 तारीख08 फरवरी 2025, शनिवार
Jaya Ekadashi 2025 Date08 February 2025, Saturday

अब हम माघ महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

माघ शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के बारे में जानकारी

चूँकि जया एकादशी का व्रत माघ महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को किया जाता है. इस कारण से हम सबको माघ शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

माघ शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि प्रारंभ07 फरवरी 2025, शुक्रवार
09:26 pm
माघ शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि समाप्त08 फरवरी 2025, शनिवार
08:15 pm

Jaya Ekadashi 2025 Parana Time – जया एकादशी व्रत 2025 पारण कब है?

एकादशी व्रत करने वालों के लिए द्वादशी तिथि को व्रत का पारण करना शुभ माना गया है. ऐसी धार्मिक मान्यता है की द्वादशी तिथि समाप्त होने से पहले एकादशी व्रत का पारण कर लेना चाहिए.

यहाँ हमने द्वादशी तिथि के समाप्त होने का समय दिया हुआ है.

माघ शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि समाप्त09 फ़रवरी 2025, रविवार
07:25 pm

इस तरह से 09 फ़रवरी 2025, रविवार को जया एकादशी व्रत का पारण करना शुभ है.

निचे टेबल के माध्यम से हमने जया एकादशी व्रत के पारण के लिए सबसे शुभ समय देने की कोशिश की है. आप दिए गए समय के भीतर अपने व्रत का पारण कर सकतें हैं.

Jaya Ekadashi 2025 Parana Time
जया एकादशी व्रत 2025 पारण समय
09 फ़रवरी 2025, रविवार, प्रातः काल
07:04 am से 09:17 am

Ekadashi Aarti – एकादशी व्रत की आरती

Importance of Jaya Ekadashi | जया एकादशी का महत्व

Jaya Ekadashi vrat
  • जया एकादशी एक अत्यंत ही पवित्र और पावन दिन होता है.
  • इस दिन श्री विष्णु की आराधना के लिए जया एकादशी का व्रत करना अत्यंत ही शुभ फलदायी होता है.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जया एकादशी का व्रत करने से श्री ब्रह्मा, श्री विष्णु और श्री महेश त्रिदेव के व्रत का फल प्राप्त होता है.
  • इस व्रत को करने और श्री विष्णु की आराधना करने से मनुष्य के समस्त पापों का नाश हो जाता है और वह मोक्ष को प्राप्त करता है.
  • जया एकादशी के दिन दान करने का भी बहुत अधिक महत्व है.
  • पवित्र नदी या सरोवर में स्नान करने के पश्चात व्रत का संकल्प लेना चाहिए और श्री विष्णु की हृदय से आराधना करनी चाहिए.

जया एकादशी के बारे में कुछ और जानकारी

जया एकादशी के दिन सम्पूर्ण श्रद्धापूर्वक श्री विष्णु की आराधना करें. विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें. गरीबों को दान करें.

साथ ही किसी निर्धन को भोजन करवाएं. इससे पुण्य की प्राप्ति होती है, और श्री विष्णु की कृपा प्राप्त होती है.

जया एकादशी का व्रत कब किया जाता है?

माघ महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को जया एकादशी का व्रत किया जाता है.

जया एकादशी व्रत की क्या महिमा है?

जया एकादशी व्रत को अत्यंत ही पावन और शुभ फलदायी व्रत माना गया है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जया एकादशी के व्रत करने से मनुष्य को त्रिदेव श्री ब्रह्मा, श्री विष्णु, और श्री महेश की परम कृपा की प्राप्ति होती है.
इस व्रत के प्रभाव से मनुष्य के समस्त पाप नष्ट हो जातें हैं और मनुष्य को श्री विष्णु की कृपा प्राप्त होती है.

इस पोस्ट में बस इतना ही. आप सब अपने विचार और सुझाव हमें कमेंट बॉक्स में अवस्य लिखें.

आप सबसे निवेदन है की अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो आप कमेंट बॉक्स में विष्णु भगवान की जय अवस्य लिखें. इससे हमें मोटिवेशन मिलता है.

अप सबको बता दें की कमेंट लिखने के लिए वेबसाइट लिखना जरुरी नहीं होता है.

हमारे कुछ और प्रकाशन –

Holi Kab Hai? होली कब है? सभी जानकारी

शिवरात्रि – महाशिवरात्रि कब है? Mahashivratri Date – पूजा विधि

माघ महिना के बारे में जानकारी विकिपीडिया पेज से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *