You are currently viewing Kali Puja 2024 – काली पूजा कब है? तारीख, समय, महत्व

Kali Puja 2024 – काली पूजा कब है? तारीख, समय, महत्व

Kali Puja 2024 – इस पोस्ट में हम काली पूजा के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रकाशित करने की कोशिश कर रहें हैं. काली पूजा कब है? काली पूजा 2024 तारीख, काली पूजा का महत्व आदि.

दुष्टों और नकारात्मक शक्तियों का नाश करने वाली माँ काली की आराधना के लिए प्रत्येक वर्ष हम सब काली पूजा मनाते हैं. सम्पूर्ण भारत में ख़ास कर के पश्चिम बंगाल में काली पूजा बहुत ही धूमधाम से मनाई जाती है.

बंगाल के अलावा काली पूजा ओड़िसा, असम, त्रिपुरा में भी काफी बड़े पैमाने पर मनाई जाती है.

काली पूजा को श्यामा पूजा और महानिशा पूजा के नाम से भी जाना जाता है.

माता काली भी आदिशक्ति माँ दुर्गा का ही एक रूप है जो की दुष्टों और राक्षसों का संहार करने के लिए अवतरित हुई है.

अब हम काली पूजा 2024 | Kali Puja 2024 के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

Kali Puja 2024 Date – काली पूजा कब है?

Kali Puja

आप सबकी जानकारी के लिए बता दें की काली पूजा प्रत्येक वर्ष कार्तिक महीने की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है.

अर्थात जिस दिन दिवाली मनाई जाती है उसी दिन काली पूजा भी मनाई जाती है.

कभी कभी काली पूजा दिवाली से एक दिन पहले भी मनाई जाती है. परन्तु अधिकतर वर्षों में काली पूजा दिवाली के रात को ही मनाई जाती है.

इस साल यानी की काली पूजा 2024 (Kali Puja 2024) में 31 अक्टूबर 2024, दिन गुरुवार को मनाई जायेगी.

काली पूजा 202431 अक्टूबर 2024, गुरुवार
Kali Puja 202431 October 2024, Thursday

काली पूजा 2024 पूजा मुहूर्त (Kali Puja 2024 Time)

माँ काली की पूजा मध्य रात्री को की जाती है. इस समय को हम सब निशिता काल कहतें हैं.

निचे टेबल में हमने काली पूजा का मुहूर्त दिया हुआ है.

काली पूजा 2024 मुहूर्त31 अक्टूबर 2024, गुरुवार, रात्री 11:39 pm से
01 नवम्बर 2024, शुक्रवार, 12:31 am तक
समय – 52 मिनट्स

चलिए अब हम सब कार्तिक अमावस्या तिथि के बारे में जानकारी प्राप्त करतें हैं.

जैसा की आप सब लोगों को जानकारी है की काली पूजा कार्तिक माह की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है.

यहाँ हमने कार्तिक माह की अमावस्या तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

कार्तिक अमावस्या तिथि प्रारंभ31 अक्टूबर 2024, गुरुवार
03:52 pm
कार्तिक अमावस्या तिथि समाप्त01 नवम्बर 2024, शुक्रवार
06:16 pm

काली पूजा का महत्व

maa kali

काली पूजा माँ काली की आराधना करने का एक बहुत ही शुभ दिन है. हम सब माँ काली की आराधना काली पूजा में श्रद्धा और भक्ति के साथ करतें हैं.

मान्यताओं के अनुसार इस दिन माँ काली कार्तिक महीने की अमावस्या को 64000 योगिनियों के साथ प्रकट हुई थी.

माता काली दुष्ट राक्षसों और नकारात्मक शक्तियों का संहार करती हैं.

अपने भक्तों के लिए माँ बहुत दयालु है. अपने बच्चों पर माँ काली की कृपा हमेशा ही बनी रहती है.

काली पूजा कब मनाई जाती है?

काली पूजा प्रत्येक वर्ष कार्तिक महीने की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है.

माँ काली की पूजा किस समय की जाती है?

काली पूजा में माँ काली की पूजा निशिता काल में की जाती है.

काली पूजा किस राज्य में बहुत धूमधाम से मनाई जाती है?

काली पूजा पश्चिम बंगाल, ओड़िसा, त्रिपुरा और आसाम में बहुत धूमधाम से मनाई जाती है.

2024 में काली पूजा कब है?

2024 में काली पूजा 31 अक्टूबर को है.

आप सभी को सोना टुकु परिवार की तरफ से काली पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं.

हमारे कुछ अन्य प्रकाशन –

Govardhan Puja गोवर्धन पूजा तारीख, मुहूर्त, महत्व, कथा

भाई दूज तारीख, शुभ मुहूर्त, महत्व, कहानी

Chhath Puja – छठ पूजा तारीख और अन्य जानकारी

Holi Kab Hai? होली कब है? सभी जानकारी

इस पोस्ट में अगर किसी भी प्रकार के सुधार की आवश्यकता है तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं. आपके द्वारा दिए गए सुझाव से हमें इस साईट को और बेहतर बनाने में मदद मिलती है.

कृपया कमेंट बॉक्स में जय माँ काली अवस्य लिखें.

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.

Leave a Reply