Sita Navami 2023 – सीता नवमी कब है? तारीख और महत्व

Sita Navami | सीता नवमी – इस पोस्ट में हम सीता नवमी कब है? सीता नवमी 2023 तारीख (Sita Navami 2023 Date) तथा सीता नवमी के महत्व के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

सीता नवमी को सीता जयंती भी कहा जाता है, क्योंकि इसी दिन माता सीता का जन्म हुआ था. सीता नवमी को जानकी नवमी के नाम से भी जाना जाता है.

नमस्कार, स्वागत है आप सबका सोनाटुकु डॉट कॉम पर. माता सीता की आराधना के लिए सीता नवमी का त्यौहार एक अत्यंत ही शुभ और महत्वपूर्ण त्यौहार है.

सीता नवमी कब है? सीता जयंती 2023 (Sita Navami 2023, Sita Jayanti 2023)

माता सीता का जन्म वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को हुआ था. माता सीता के जन्म दिवस को हम सब सीता नवमी, सीता जयंती या जानकी नवमी के रूप में प्रत्येक वर्ष अत्यंत ही श्रद्धा और भक्ति के साथ मनाते हैं.

साल 2023 में सीता नवमी 29 अप्रैल 2023, दिन शनिवार को है.

सीता नवमी 2023 तारीख29 अप्रैल 2023, शनिवार
Sita Navami 2023 Date29 April 2023, Saturday

अब हम वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि कब प्रारंभ हो रही है और कब समाप्त हो रही है? के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

वैशाख शुक्ल पक्ष नवमी तिथि की जानकारी

चूँकि सीता नवमी का त्यौहार वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाई जाती है. इस कारण से हमने यहाँ वैशाख शुक्ल पक्ष नवमी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

वैशाख शुक्ल पक्ष नवमी तिथि प्रारंभ28 अप्रैल 2023, शुक्रवार
04:01 pm
वैशाख शुक्ल पक्ष नवमी तिथि समाप्त29 अप्रैल 2023, शनिवार
06:22 pm

Importance of Sita Navami | सीता नवमी का महत्व

माता सीता के जन्म दिवस को हम सब सीता नवमी या जानकी नवमी या सीता जयंती के रूप में प्रत्येक वर्ष मनाते हैं. इस दिन महिलाओं द्वारा उपवास रखा जाता है. देवी सीता की लोगों द्वारा भक्तिपूर्वक पूजा आराधना की जाती है.

माता सीता को लक्ष्मी का रूप माना जाता है.

धार्मिक मान्यता है की विवाहित स्त्रियों द्वारा माता सीता की श्रद्धा और भक्ति के साथ पूजा अर्चना करने से उनके पति की आयु में बृद्धि होती है. विवाहित स्त्रियाँ माता सीता से अखंड शौभाग्य का वर मांगती है.

कुंवारी कन्याओं द्वारा भी माता सीता की पूजा की जाती है. कुंवारी कन्याएं माता सीता से अपने लिए सुयोग्य वर का वरदान मांगती है.

माता सीता की पूजा अर्चना करने से धन-धान्य, सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है. जीवन में शान्ति आती है.

इस पोस्ट में बस इतना ही. अप सब अपने विचार, कोई सुझाव हो या फिर आप इस साईट के किसी पोस्ट में कोई सुधार करवाना चाहतें हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में अवस्य लिखें.

कुछ अन्य प्रकाशन –

Sita Mata Ki Aarti – सीता माता की आरती

Sita Mata Maithili Aarti – सीता बिराजथि मिथिलाधाम आरती

Sita Chalisa | सीता चालीसा – सीता माता की आराधना

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.