Tulsi Vivah 2022 – तुलसी विवाह 2022 कब है? सम्पूर्ण जानकारी

Tulsi Vivah 2022 Date, Importance and other important information related to Tulsi Vivah.

इस पोस्ट में हम जानेंगे तुलसी विवाह कब है? तुलसी विवाह 2022 तारीख, दिन, महत्व, लाभ आदि.

तुलसी विवाह हिन्दू धर्म का एक बहुत ही महत्वपूर्ण धार्मिक आयोजन और उत्सव है. तुलसी विवाह में भगवान श्री विष्णु के रूप शालिग्राम का विवाह तुलसी माता के साथ किया जाता है.

यह विवाह धार्मिक दृष्टिकोण से अत्यंत ही शुभ फलदायक होता है. तुलसी विवाह के महत्व के बारे में हम इस पोस्ट में बाद में चर्चा करेंगे. पहले हम तुलसी विवाह के बारे में कुछ संक्षिप्त जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं. फिर हम तुलसी विवाह 2022 (Tulsi Vivah 2022) में कब है के बारे में जानेंगे.

इसे भी देखें – Dev Uthani Ekadashi 2022 – देव उठनी एकादशी देवोत्थान एकादशी

Tulsi Vivah – तुलसी विवाह

तुलसी विवाह का आयोजन कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को किया जाता है. इस दिन भगवान श्री विष्णु चार महीने क्षीरसागर में निद्रा के बाद जागतें हैं.

इस दिन को देव उठनी एकादशी या देवोत्थान एकादशी के नाम से भी जाना जाता है.

देव उठनी एकादशी के बारे में हमने पोस्ट प्रकाशित किया हुआ है. ऊपर लिंक दिया हुआ है. आप उस पोस्ट को भी देख सकतें हैं.

तुलसी विवाह में भगवान श्री विष्णु के शालिग्राम रूप का विवाह तुलसी पौधे जिसे हम सब तुलसी माता कहतें हैं के साथ संपन्न किया जाता है.

यह एक बहुत ही पुण्यदायी धार्मिक आयोजन या यूँ कहिये उत्सव होता है. भगवान श्री विष्णु से तुलसी माता के विवाह के संबंद्ध में भी एक धार्मिक कथा है. जिसके बारे में हम दुसरे पोस्ट में चर्चा करेंगे.

अब हम तुलसी विवाह 2022 (Tulsi Vivah 2022) के बारे में जानकारी प्राप्त करतें हैं.

Tulsi Vivah 2022 Date तुलसी विवाह 2022 तारीख

इस साल यानी की 2022 में तुलसी विवाह 05 नवम्बर 2022, दिन शनिवार को है.

तुलसी विवाह 2022 तारीख05 नवम्बर 2022, शनिवार
Tulsi Vivah 2022 Date05 November 2022, Saturday

अब हम कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि प्रारंभ04 नवम्बर 2022, शुक्रवार
6:08 pm
कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि समाप्त05 नवम्बर 2022, शनिवार
05:06 pm

तुलसी विवाह का महत्व

  • तुलसी विवाह भगवान श्री विष्णु के भक्तों के लिए के बहुत ही महत्वपूर्ण धार्मिक उत्सव और आयोजन है.
  • इस विवाह में भगवान श्री विष्णु के शालिग्राम रूप का तुलसी माता के साथ विधिवत रूप से विवाह संपन्न कराया जाता है.
  • यह दिन अत्यंत ही पावन और शुभ होता है.
  • कार्तिक शुक्ल पक्ष एकादशी को भगवान श्री विष्णु चातुर्मास निद्रा से जागतें हैं तो पहली प्रार्थना तुलसी की ही सुनते हैं.
  • तुलसी का एक नाम वृंदा भी है.
  • जिन लोगों के पुत्री नहीं हैं वो तुलसी विवाह के माध्यम से कन्या दान का पुण्य प्राप्त कर सकतें हैं.
  • इसी दिन से सारे मांगलिक कार्य फिर से आरंभ हो जातें हैं.
  • तुलसी विवाह के माध्यम से मनुष्य को श्री विष्णु और तुलसी माता की परम कृपा की प्राप्ति होती है.

इस पोस्ट से संबंद्धित आपके कोई सुझाव या सलाह हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं.

आप हमसे ईमेल के माध्यम से भी संपर्क कर सकतें हैं.

FAQ

तुलसी विवाह में किसका विवाह संपन्न किया जाता है?

आप सबको मालुम होगा की तुलसी विवाह में भगवान श्री विष्णु के शालिग्राम रूप का विवाह तुलसी माता से संपन्न किया जाता है.

तुलसी का एक और नाम क्या है?

तुलसी का एक और नाम वृंदा है.

हमारे कुछ अन्य प्रकाशनों की सूचि निचे दी गयी है.

Ram Navami 2022 Date – राम नवमी 2022 तारीख और शुभ मुहूर्त

2022 Holi Kab Hai? होली कब है? सभी जानकारी

हनुमान जयंती 2022 Hanuman Jayanti Date Time puja vidhi

शिवरात्रि – महाशिवरात्रि कब है? Mahashivratri 2022 – पूजा विधि

Nidhi

इस साईट पर प्रकाशित सभी धार्मिक प्रकाशनों को निधि के द्वारा प्रकाशित किया जाता है. निधि त्योहारों, आरती, चालीसा मंत्र स्तोत्र आदि की अच्छी जानकारी रखती है. बहुत धार्मिक मान्याताओं वाली निधि हमारे इस सेगमेंट को अच्छे से देखती है.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.